आदिवासी कलाकारों के साथ जमकर थिरके सिंधिया, एक बार फिर कमलनाथ को लिया आड़े हाथ

वह व्यक्ति कहता है कि सरकार चुरा ली, जिनके शासनकाल में चोरों का संग्रह वल्लभ भवन बन गया था, भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा अड्डा बन गया था, लूट प्रदेश बन गया था- कमलनाथ पर सिंधियावार

0
fcdisnbxiailun4
fcdisnbxiailun4
Advertisement2

Politalks.News/MadhyPradesh. देश के कई राज्यों में होने वाले विधानसभा उपचुनाव में दोनों प्रमुख पार्टियों बीजेपी और कांग्रेस ने अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है. बात करें मध्यप्रदेश की तो यहां सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने अपने सभी दिग्गजों को मैदान में उतार रखा है. उपचुनाव के रण में उतरे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जहां शनिवार को एक ग्रामीण के घर भोजन किया और रात एक बैंडबाजे वाले के घर मे गुजारी, तो वहीं केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को वोटर्स को रिझाने के लिए बुरहानपुर में आदिवासी कलाकारों के साथ जमकर डांस किया.

दरअसल, मोदी सरकार में मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया यहां डोईफोड़िया में एक चुनावी सभा को संबोधित करने आए थे. उनके स्वागत में आदिवासी कलाकार नृत्य कर रहे थे. ये देख नागरिक विमानन मंत्री सिंधिया खुद को रोक नहीं सके और उनके रंग में रंग गए. इस दौरान उनके साथ मध्य प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट भी थे. आपको बता दें, मध्य प्रदेश में खंडवा लोकसभा सहित 3 विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान होना है. जिसके चलते ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जिले के खकनार के डोईफोड़िया गांव में लोकसभा प्रत्याशी ज्ञानेश्वर पाटिल के लिए जनता का समर्थन मांगा. इस दौरान सिंधिया ने अपने चिर परिचित अंदाज में अपनी पुरानी पार्टी के लीडर और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर भी जमकर निशाना साधा.

यह भी पढ़ें: G-23 नेताओं को सूंघ गया सांप? CWC की बैठक के बाद विचित्र खामोशी की सियासी गलियारों में चर्चाएं

अपने चुनावी भाषण में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘वह व्यक्ति कहता है कि सरकार चुरा ली, जिनके शासनकाल में चोरों का संग्रह वल्लभ भवन बन गया था, भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा अड्डा बन गया था, लूट प्रदेश बन गया था. कोरोना काल में बाएं तरफ सलमान खान और दाएं तरफ जैकलिन फर्नांडिज के साथ कमलनाथ को फोटो खिंचवाने का समय था, जनता के लिए नहीं था. और जब लॉकडाउन नहीं लगा था, लेकिन कमलनाथ तब लॉकडाउन में चले गए थे.

यह भी पढ़ें: अब अपनों के निशाने पर आई मोदी सरकार! RSS से जुड़े संगठन ने देशव्यापी प्रदर्शन का किया एलान

वहीं बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में मतदान की अपील करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यहां मंच से कहा कि अगर अपने नंदू भैया को सच्ची श्रद्धांजलि देना है तो कमल के फूल पर बटन दबाएं. क्योंकि, यह कोई राजनीतिक चुनाव नहीं है. कमल के फूल का बटन दबाकर यह याद रखना है कि हम उस वोटिंग मशीन के डिब्बे का बटन नहीं नंदू भैया के हृदय का बटन दबा रहे हैं. सिंधिया ने लोगों से कहा कि आपसे हमारा अतीत का संबंध है. मेरे पूर्वजों ने बाजीराव पेशवा की समाधि बनाई थी.

Leave a Reply